10th ke baad Kya kare – 10th के बाद कौन सा कोर्स करें? | 10th ke baad konsi stream/subjects le? | 10वीं के बाद क्या करे, कौन से सब्जेक्ट चुने 2022? | 10वीं के बाद सरकारी नौकरी कौन सी है?

10वीं के नतीजे आने के बाद हर छात्र के मन में एक आम सवाल होता है कि ’10वीं के बाद आगे क्या’? विज्ञान, वाणिज्य या कला? यह एक सामान्य भ्रम है जिसका सामना अधिकांश छात्र करते हैं। हर क्षेत्र में करियर के बहुत सारे अवसर होते हैं लेकिन सही स्ट्रीम चुनना जिसमें छात्रों की रुचि हो, मुख्य चिंता होनी चाहिए।

क्या आपको आता है सचिन तेंदुलकर 10वीं में फेल हो गए थे। लेकिन वह बहुत स्पष्ट था कि वह अपने जीवन से क्या चाहता है।

लेकिन क्या हम? कुछ छात्र इस बारे में बहुत स्पष्ट होते हैं कि वे अपने जीवन में क्या चाहते हैं। लेकिन कई छात्र ऐसे भी होते हैं जो अपने करियर को लेकर असमंजस में रहते हैं। कक्षा 10वीं आपके करियर का सबसे महत्वपूर्ण और भ्रमित करने वाला चौराहा है। एक सही फैसला आपको करियर में आगे बढ़ने में मदद कर सकता है। और यदि आप गलत चुनाव करते हैं, तो आपको जीवन भर परिणाम भुगतने होंगे।

  • तो आप कैसे तय करते हैं कि 10वीं के बाद क्या करना है?
  • क्या आपको मानक विज्ञान स्ट्रीम के लिए जाना चाहिए?
  • क्या आपको कॉमर्स के लिए जाना चाहिए?
  • आपको कला स्ट्रीम लेनी चाहिए?
  • किस बोर्ड को चुनना है?
  • 10th ke baad sarkari naukari?
  • कौन से डिप्लोमा कोर्स करे?

बहुत सारे विकल्प हैं लेकिन 10वीं के बाद सही करियर चुनना बहुत महत्वपूर्ण है। एक प्रशिक्षित करियर काउंसलर के साथ करियर काउंसलिंग से आपको अपने भ्रम को दूर करने में मदद मिल सकती है। एक करियर काउंसलर आपके भविष्य के लिए एक आदर्श करियर पथ प्राप्त करने के लिए करियर मूल्यांकन का उपयोग करता है। करियर असेसमेंट टेस्ट आपके कौशल, रुचि, क्षमताओं का विश्लेषण करता है और उसके आधार पर एक स्पष्ट रोडमैप प्रदान किया जाता है।

अच्छा तो आपने अभी तक अपनी स्कूल की पढ़ाई मौज-मस्ती और हंसी मजाक में पूरी कर ली और कब दसवीं में आ गए आपको पता भी नहीं लगा हेना, लेकिन अब आपको अपने बेहतर भविष्य की चाहत हैं, पर आपको समझ नहीं आ रहा कि आप किस सब्जेक्ट में आगे की पढ़ाई करें, डिप्लोमा कोर्स 10 वीं के बाद, दसवीं के बाद जॉब, कौन सा सब्जेक्ट ले जिससे आपका फ्यूचर अच्छा हो सके? तो हमारा आज का ब्लॉग 10th ke baad kya kare आपकी मदद करेगा जहां हम आपको बताएंगे कि आप 10th ke baad kya kare तो आइये शुरू करते हैं –

Table of Contents

10वीं कक्षा के लिए करियर काउंसलिंग

सीबीएसई के मुताबिक करीब 32 लाख छात्र 10वीं की बोर्ड परीक्षा में शामिल हुए थे। यह बहुत बड़ी संख्या है। लेकिन कितने छात्र वास्तव में जानते हैं कि 10वीं के बाद क्या करना है? 10वीं कक्षा के लिए करियर काउंसलिंग और करियर गाइडेंस समय की मांग है। जो छात्र अपने स्ट्रीम चयन को लेकर असमंजस में हैं, वे करियर काउंसलिंग के लिए जा सकते हैं। 10वीं कक्षा के छात्रों के लिए करियर काउंसलिंग अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योंकि आज के युवा कल का भविष्य हैं।

“पढ़ेगा इंडिया तबी तो बढ़ेगा इंडिया।”

10वीं के बाद करियर का चुनाव करते समय स्टूडेंट्स करते हैं ये गलतियां

  1. भीड़ / दोस्तों का अनुसरण करना – यह सबसे आम गलतियों में से एक है जो अधिकांश छात्र अनजाने में करते हैं। कई छात्र किसी भी स्ट्रीम को सिर्फ इसलिए लेते हैं क्योंकि उनके दोस्तों ने उस स्ट्रीम को लेने का फैसला किया है। यह उनके जीवन का सबसे बुरा फैसला साबित हो सकता है।

अधिकांश छात्र जो कर रहे हैं उसे करने के बजाय यह आवश्यक है कि आपने उस स्ट्रीम को चुना जिसके बारे में आप सबसे अधिक भावुक हैं।

  1. माता-पिता/सामाजिक दबाव – आइए एक सामान्य परिदृश्य को देखें।

आप: पापा, मैं आर्ट्स स्ट्रीम करना चाहता हूं।

पिताजी: आर्ट्स स्ट्रीम में कोई भविष्य नहीं है. आपको विज्ञान लेना होगा। शर्मा जी के बेटे को देखो। उसने साइंस स्ट्रीम ली थी और वह जीवन में बहुत अच्छा कर रहा है।

मुझे यकीन है कि कई छात्रों ने इस स्थिति का सामना किया होगा। मुझे यकीन है, कि कई माता-पिता ने अपने बच्चे के फैसले को प्रभावित करने के लिए कुछ शर्मा या गुप्ता का उदाहरण दिया होगा। यह एक त्रुटिपूर्ण कैरियर निर्णय का कारण बन सकता है।

ऐसा लग सकता है कि साइंस स्ट्रीम ही सब कुछ है। लेकिन अगर आपको किसी विशेषज्ञ (करियर काउंसलर) से उचित करियर मार्गदर्शन मिलता है, तो 10 वीं के बाद करियर का रास्ता चुनना बहुत आसान हो जाएगा।

  1. ज्ञान की कमी– 10वीं के बाद करियर के ढेरों विकल्प हैं। अगर हम 10-20 साल पहले पीछे जाते हैं, तो चुनने के लिए बहुत कम करियर विकल्प थे। लेकिन अब परिदृश्य बिल्कुल अलग है। कई करियर विकल्प उपलब्ध हैं और उचित करियर मार्गदर्शन और करियर परामर्श की सहायता से आप सुरंग के अंत में प्रकाश देख सकते हैं।

दसवीं के बाद कौन से सब्जेक्ट का चयन करें?

दसवीं के बाद एक सही सब्जेक्ट का चुनाव करना हमारे लिए बहुत जरूरी होता है क्योंकि इसी पर हमारे आगे का भविष्य निर्भर करता है और यही सब्जेक्ट हमें 11वीं और 12वीं कक्षा मे पढ़ना  होता है।10 ke baad kya kare आपके सामने कई सारे विकल्प उपस्थित होते है।10वीं के बाद मुख्यतः 3 विकल्प होते है जिनमे से हमें किसी एक को चुनना होता है,ये है-

  • Arts (कला वर्ग) 
  • Science (विज्ञान वर्ग) 
  • Commerce (वाणीज्य वर्ग)
  • डिप्लोमा कोर्स

10वीं के बाद करियर विकल्प – 10वीं के बाद क्या करे, कौन से सब्जेक्ट चुने 2022?

1. विज्ञान (Science)

• अधिकांश माता-पिता और छात्रों के लिए विज्ञान सबसे लोकप्रिय और पसंदीदा करियर विकल्प है।

• साइंस स्ट्रीम इंजीनियरिंग, मेडिकल, आईटी जैसे कई आकर्षक करियर विकल्प प्रदान करती है और आप शोध भूमिकाओं का विकल्प भी चुन सकते हैं।

• साइंस स्ट्रीम लेने का सबसे अच्छा फायदा यह है कि यह आपके विकल्पों को खुला रखता है। आप विज्ञान से वाणिज्य या विज्ञान से कला में स्विच कर सकते हैं। लेकिन इसके विपरीत करना संभव नहीं है।

• साइंस स्ट्रीम लेना आपको उत्कृष्ट समस्या-समाधान क्षमताओं से लैस करता है।

• विज्ञान और गणित एक लचीला आधार प्रदान करते हैं जो छात्रों को अत्यधिक सम्मानित और अच्छी तनख्वाह वाली नौकरी हासिल करने में सक्षम बनाता है।

• विज्ञान मजेदार, अद्भुत और आकर्षक है। जैसा कि एडवर्ड टेलर ने ठीक ही कहा है

“आज का विज्ञान कल की तकनीक है।”

10वीं के बाद किसे साइंस लेना चाहिए?

अगर टेक्नोलॉजी आपको आकर्षित करती है और आपमें नंबरों के प्रति रुझान है, तो 10वीं के बाद साइंस लेना एक अच्छा विकल्प होगा।

  • आप फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स (पीसीएम) का विकल्प चुन सकते हैं।
  • अगर आप मेडिकल क्षेत्र में अपनी पहचान बनाना चाहते हैं, तो आप फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स, बायोलॉजी (पीसीएम-बी) का विकल्प चुन सकते हैं।
  • अब कई ऐसे छात्र हैं जिन्हें मैथ्स पसंद नहीं है। या तो वे गणित से डरते हैं या गणित में उनकी रुचि नहीं है। चिंता न करें, अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं, तो मैथ्स जानना जरूरी नहीं है। आप आसानी से भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान (पीसीबी) का विकल्प चुन सकते हैं।

10वीं कक्षा के बाद साइंस स्ट्रीम के लिए कई करियर विकल्प उपलब्ध हैं। यदि आपको 10वीं के बाद क्या करने के बारे में कोई संदेह है, तो आप www.edumilestones.com पर जा सकते हैं और अपना करियर परामर्श प्राप्त कर सकते हैं। उनका करियर असेसमेंट टेस्ट 92% सटीक परिणाम देता है।

यह वास्तव में आपको सही करियर स्ट्रीम चुनने में मदद करेगा।

Science Stream में कौन कौन से Subjects होते हैं?

Science Stream में students को इन subjects का अध्ययन करना पड़ता है.

  1. Physics
  2. Mathematics
  3. Chemistry
  4. Biology
  5. Computer Science / IT (Information Technology)
  6. Biotechnology
  7. English

Science Stream में Career Options क्या हैं?

अब चलिए जानते हैं की 10वीं के बाद Science Stream के Career Options क्या होते हैं.

MEDICAL SCIENCE                 ENGINEERING      दुसरे कोर्स
AnatomyAerospace EngineeringPharmaceuticals
BiochemistryChemical EngineeringSoftware Design
BioinformaticsCivil EngineeringForensic Science
BiomechanicsComputer Science EngineeringCeramics Industry
BiostatisticsElectrical EngineeringPlastics Industry
BiophysicsEngineering ManagementPaper Industry
CytologyIndustrial EngineeringTeaching
Dental ScienceIntegrated EngineeringAgrochemistry
EmbryologyMaterials EngineeringAstronomy
EpidemiologyMechanical EngineeringFood Technology
GeneticsMilitary EngineeringMeteorology
ImmunologyNuclear EngineeringPhotonics
MicrobiologyElectronics EngineeringSeismology
PathologyElectronics & Communication EngineeringPaleontology
PhotobiologyGeotechnical EngineeringGeochemistry

ये भी देखें- 12वीं के बाद के करे?

2. वाणिज्य (Commerce) –

• विज्ञान के बाद वाणिज्य दूसरा सबसे लोकप्रिय करियर विकल्प है। अगर आपको अंक, वित्त, अर्थशास्त्र आदि पसंद हैं, तो वित्त आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प है।

• यह चार्टर्ड एकाउंटेंट, एमबीए, बैंकिंग क्षेत्रों में निवेश आदि जैसे करियर विकल्पों की एक विस्तृत विविधता प्रदान करता है।

• आप व्यावसायिक ज्ञान प्राप्त करते हैं जो व्यवसाय के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

• आपको एकाउंटेंसी, वित्त, अर्थशास्त्र आदि जैसे विषयों से परिचित होना होगा।

• आपको संख्या, डेटा के साथ अच्छा होना चाहिए और वित्त, अर्थशास्त्र में आपकी रुचि होनी चाहिए।

• एक विषय के रूप में वाणिज्य भारत में लोकप्रियता प्राप्त कर रहा है और बहुत से छात्र अध्ययन कर रहे हैं और इससे अपना जीवनयापन कर रहे हैं।

10वीं के बाद कॉमर्स किसे लेना चाहिए?

यदि आप संख्या, व्यवसाय, अर्थशास्त्र के प्रति लगाव रखते हैं तो वाणिज्य आपके लिए एक धारा है।

अगर आप इकोनॉमिक्स और बिजनेस की दुनिया में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो कॉमर्स आपके लिए सही करियर है।

10वीं के बाद कॉमर्स स्ट्रीम के लिए कई विकल्प उपलब्ध हैं। यदि आपको कॉमर्स स्ट्रीम का चयन करने के बारे में कोई संदेह है, तो आप किसी विशेषज्ञ से अपनी करियर काउंसलिंग करवाकर सबसे अच्छा तरीका चुन सकते हैं। परेशानी मुक्त करियर के लिए 10वीं कक्षा के बाद उचित करियर मार्गदर्शन अत्यंत आवश्यक है। उद्योग के विशेषज्ञों द्वारा Edumilestones कैरियर मूल्यांकन को सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। उनके करियर मूल्यांकन का परीक्षण सांख्यिकीय पद्धतियों पर किया जाता है और सटीक और विश्वसनीय परिणाम प्रदान करता है।

Commerce Stream में कौन कौन से Subjects होते हैं?

अब चलिए जानते हैं की Commerce में कौन कौन से subject होते हैं. Commerce Stream में students को इन subjects का अध्ययन करना पड़ता है.

  1. Economics
  2. Accountancy
  3. Business Studies / Organisation of Commerce
  4. Mathematics
  5. English
  6. Information Practices
  7. Statistics

Commerce Stream के Career Options क्या हैं?

चलिए अब जानते हैं की 10वीं के बाद students के सामने Commerce Stream में क्या career options होते हैं.

BankingBroking
Tax PractitionersAccountancy
Finance PlanningCA

3. कला/मानविकी (Arts/Humanities)

• आजकल कला/मानविकी की मांग बहुत अधिक है और अधिक से अधिक छात्र इसे अपना रहे हैं।

• कला अब एक मांग के बाद करियर विकल्प के रूप में उभर रही है। यह छात्रों को करियर के कई अवसर प्रदान करता है।

• यह पत्रकारिता, भाषा, इतिहास, मनोविज्ञान आदि जैसे कई आकर्षक करियर विकल्प प्रदान करता है।

• डिजाइन, भाषा कला, प्रदर्शन कला, मानविकी अच्छी तनख्वाह वाले करियर विकल्प हैं।

• कला विषय रचनात्मकता और आत्म-अभिव्यक्ति को प्रोत्साहित करते हैं।

• कला संकाय लेने वाले छात्रों में आलोचनात्मक सोच विकसित होती है। यह आपको अपने नेतृत्व गुणों को बढ़ाने में भी मदद करता है।

कला आपको अपने आसपास की दुनिया से निपटना सिखाती है।

~ एलन पार्कर।

10वीं के बाद आर्ट्स किसे लेना चाहिए?

यदि आप एक ऐसे छात्र हैं जो रचनात्मक हैं और मानवता की गहराई में उतरना चाहते हैं, तो कला आपके लिए एक धारा है।

10वीं के बाद आर्ट्स स्ट्रीम के लिए कई विकल्प उपलब्ध हैं। अगर आपको कोई भ्रम है तो आप अपनी करियर काउंसलिंग करवा सकते हैं। एक करियर काउंसलर आपको उचित करियर मार्गदर्शन प्रदान करेगा और आपको सही दिशा में मार्गदर्शन करेगा।

ये कुछ अच्छे करियर विकल्प हैं जिन्हें आप 10वीं के बाद चुन सकते हैं।

Arts Stream में कौन कौन से Subjects होते हैं ?

Arts Stream में students को इन subjects का अध्ययन करना पड़ता है.

  1. History
  2. Geography
  3. Political Science
  4. English
  5. Economics
  6. Psychology
  7. Fine Arts
  8. Sociology
  9. Physical Education
  10. Literature

Arts Stream के Career Options क्या हैं?

चलिए अब जानते हैं की 10वीं के बाद students के सामने Arts Stream में क्या career options होते हैं.

ArchaeologyLibrary ManagementPolitical SciencePopulation Science
AnthropologyPsychologySociologySocial Service
Civil ServicesTeachingHospitality IndustryInterior Designing
CartographyLinguisticsFine Arts
EconomistMass Communication / MediaPerforming Arts
GeographerPhilosophyFashion Designing
Heritage ManagementResearchTravel and Tourism Industry
HistorianWritingLaw

4. डिप्लोमा कोर्स 10 वीं के बाद

10वीं के बाद करियर के क्या विकल्प हैं:

10वीं के बाद सही करियर विकल्प चुनना शायद आपके जीवन का सबसे महत्वपूर्ण निर्णय है और इसे जल्दबाजी में नहीं लेना चाहिए। आइए देखें कि आप 10वीं के बाद सही करियर का रास्ता कैसे चुन सकते हैं:

इंटरमीडिएट (2 वर्ष) – 10 वीं कक्षा के बाद, छात्र पीसीएम, पीसीबी, पीसीएमबी, गणित के साथ वाणिज्य, गणित के बिना वाणिज्य जैसे विषय समूहों का चयन कर सकते हैं। 12वीं कक्षा पूरी करने के बाद, विषय चयन के आधार पर कई विषयों में स्नातक किया जा सकता है।

पॉलिटेक्निक- 10वीं के बाद छात्र मैकेनिकल, सिविल, केमिकल्स, कंप्यूटर, ऑटोमोबाइल जैसे पॉलिटेक्निक कोर्स कर सकते हैं। पॉलिटेक्निक कॉलेज 3 वर्ष, 2 वर्ष और 1 वर्ष की अवधि के लिए डिप्लोमा पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं।

आईटीआई (औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान) – 10 वीं कक्षा के बाद छात्र मैकेनिकल, इलेक्ट्रीशियन, इलेक्ट्रिकल जैसे रोजगार के लिए आईटीआई कोर्स कर सकते हैं।

पैरामेडिकल – 10 वीं कक्षा के बाद, छात्र डीएमएलटी (डिप्लोमा इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी), डीओए (नेत्र सहायक में डिप्लोमा), डीओटी (नेत्र सहायक में डिप्लोमा) जैसे पैरामेडिक पाठ्यक्रम कर सकते हैं।

शॉर्ट टर्म कोर्स- 10वीं क्लास के बाद छात्र टैली, डीटीपी, ग्राफिक्स जैसे शॉर्ट टर्म कोर्स कर सकते हैं।

सही समय पर सही करियर सलाह और मार्गदर्शन आपके लिए चमत्कार कर सकता है। क्षेत्र में किसी विशेषज्ञ से सलाह लेना बहुत जरूरी है। एक करियर काउंसलर आपको यह तय करने में मदद कर सकता है कि 10वीं के बाद क्या चुनना है। एक विशेषज्ञ आपकी ताकत, जुनून और रुचि का आकलन और विश्लेषण करेगा। उसके आधार पर विशेषज्ञ आपके सबसे उपयुक्त करियर पथ का निर्धारण करेगा। भारत में प्रभावी करियर परामर्श आपके भविष्य के लिए चमत्कार कर सकता है।

10वीं की बाद शिक्षा बोर्ड कैसे चुनें? क्या आपको सीबीएसई या आईसीएसई या राज्य बोर्ड जाना चाहिए?

आपने 10वीं पास कर ली है। अब आप एक शिक्षा बोर्ड चुनने की योजना बना रहे हैं जो आपके लिए सबसे उपयुक्त हो और जो आपके करियर को आसमान छूने में मदद करे। सीबीएसई, आईसीएसई और आईबी के बीच चयन करना आसान विकल्प नहीं है। प्रत्येक शिक्षा बोर्ड के अपने फायदे हैं। जब सबसे अच्छी शिक्षा की बात आती है, तो सही बोर्ड और स्कूल चुनना बहुत जरूरी है। आइए किसी भी शिक्षा बोर्ड को चुनने के लाभों को देखें। आपके लिए यह तय करना आसान होगा कि किस बोर्ड को चुनना है।

सीबीएसई (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड) के लाभ

  1. शायद हमारे देश का सबसे लोकप्रिय शिक्षा बोर्ड और राष्ट्रीय बोर्ड। सीबीएसई का एक एकीकृत पाठ्यचर्या दृष्टिकोण है जो समग्र व्यक्तियों को विकसित करने में मदद करता है।
  2. सीबीएसई कौशल विकास पर जोर देता है।
  3. सीबीएसई छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में मदद करता है क्योंकि प्रतियोगी परीक्षाओं में अधिकांश प्रश्न एनसीईआरटी से पूछे जाते हैं।
  4. जेईई मेन और एडवांस जैसी अधिकांश प्रतियोगी परीक्षाएं सीबीएसई द्वारा आयोजित की जाती हैं।
  5. यह छात्रों को गुणवत्तापूर्ण ज्ञान प्रदान करने के साथ-साथ एक व्यक्ति के समग्र विकास को सुनिश्चित करता है।
  6. सीबीएसई बोर्ड का सबसे महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह छात्र की रुचि के आधार पर विषयों को चुनने में लचीलापन प्रदान करता है। सीबीएसई की समग्र संरचना बहुत कॉम्पैक्ट है और यह आपको किसी भी दबाव को महसूस करने की अनुमति नहीं देती है।
  7. आपको उत्तर को उलझाने की जरूरत नहीं है। मूल और अच्छी तरह से लिखे गए उत्तरों की सीबीएसई बोर्ड द्वारा सराहना की जाती है जिससे छात्रों को उनकी सोच क्षितिज का पता लगाने का मौका मिलता है।

आईसीएसई के लाभ (माध्यमिक शिक्षा का भारतीय प्रमाण पत्र)

  1. ICSE को सबसे कठिन बोर्ड माना जाता है। आईसीएसई का पाठ्यक्रम बहुत व्यापक है और इसमें सभी क्षेत्रों को समान महत्व के साथ शामिल किया गया है।
  2. आईसीएसई के छात्र अपने गहन पाठ्यक्रम के कारण स्वाभाविक रूप से अंग्रेजी में बहुत अच्छे हो जाते हैं।
  3. इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि आईसीएसई में अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्रों से सिविल सेवा परीक्षा पास करने की उम्मीद की जाती है क्योंकि सिविल सेवाओं में अंग्रेजी में संक्षिप्त रूप से लिखने की कला की बहुत आवश्यकता होती है।
  4. आईसीएसई का पाठ्यक्रम और संरचना इस तरह से है कि यह छात्रों को पाठ्यपुस्तकों से परे देखने और अवधारणाओं में व्यावहारिक अंतर्दृष्टि रखने में सक्षम बनाता है।
  5. आईसीएसई का मानक और पाठ्यक्रम छात्रों को एक मजबूत नींव देता है और उन्हें उनके भविष्य के लिए तैयार करता है।
  6. पाठ्यक्रम की मात्रा और सामग्री अधिक हो सकती है, लेकिन यह छात्रों में उच्च ज्ञान भी विकसित करती है। आपने सुना होगा कि सीबीएसई आपको 11वीं या 12वीं में क्या सिखाता है, आईसीएसई बोर्ड 9वीं में पहले ही कॉन्सेप्ट पढ़ा चुका है। आईसीएसई का पाठ्यक्रम ऐसा प्रभावशाली और साधन संपन्न है।

आईबी के लाभ (अंतर्राष्ट्रीय स्तर के स्नातक)

  1. अगर आप विदेश में पढ़ाई करने की योजना बना रहे हैं तो आईबी बोर्ड आपको विदेश में प्रवेश दिलाने में मदद कर सकता है।
  2. आईबी बोर्ड आपको सांस्कृतिक रूप से अधिक जागरूक बनने में मदद करता है।
  3. यह आपको वैश्विक संबद्धता प्राप्त करने में मदद करता है।
  4. उनका पाठ्यक्रम एक छात्र के सर्वांगीण विकास में मदद करता है।
  5. आईबी बोर्ड आपको अपने स्वयं के विषयों का चयन करने की सुविधा देता है।

ये शीर्ष शिक्षा बोर्ड के कुछ फायदे हैं। कोई बोर्ड सबसे अच्छा नहीं है। हर बोर्ड का अपना फायदा होता है। यह पूरी तरह से छात्र की योग्यता पर निर्भर करता है।

एक छात्र के लिए 10वीं कक्षा के लिए करियर मूल्यांकन से गुजरना भी महत्वपूर्ण है। कैरियर मूल्यांकन का उपयोग छात्र के व्यक्तित्व, रुचि और योग्यता को समझने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग आपके सबसे उपयुक्त विषय समूह और करियर पथ का पता लगाने के लिए किया जाता है। आप 10वीं कक्षा के लिए करियर मूल्यांकन परीक्षा के लिए दिए गए लिंक का उपयोग कर सकते हैं।

सीबीएसई से राज्य बोर्ड में जाने के फायदे क्या हैं?

  • जब आप राज्य बोर्ड में 85% से ऊपर स्कोर करते हैं तो कुछ स्कॉलरशिप और पुरस्कार होते हैं।
  • मेरा एक दोस्त राज में था। बोर्ड और मैं सीबीएसई बोर्ड में थे, हालांकि हम दोनों ने कुल मिलाकर 86 फीसदी अंक हासिल किए, उसे लैपटॉप मिला और मुझे कुछ नहीं मिला।
  • राज्य बोर्ड पाठ्यक्रम पैटर्न अलग-अलग राज्यों में भिन्न हो सकता है, उनके पास पढ़ने या लिखने के लिए अन्य भाषाएं हो सकती हैं।

अब नुकसान के बारे में बात करते हैं और वे हैं:

  • आजकल सभी प्रतियोगिता परीक्षा सीबीएसई की तरह एनसीईआरटी पैटर्न का पालन करती हैं, इसलिए राज्य बोर्ड के छात्रों की कमी है, उन्हें भी सीबीएसई की किताबों का अध्ययन करना पड़ता है।
  • राज्य बोर्ड में आप केवल अपने राज्य के साथ बातचीत करेंगे लेकिन सीबीएसई में आप पूरे भारत के साथ-साथ विदेशों में भी बातचीत कर सकते हैं।
  • सीबीएसई छात्र की अंग्रेजी राज्य बोर्ड के छात्रों की तुलना में अधिक धाराप्रवाह है।

शुभकामनाएं। हैप्पी लर्निंग। क्या आप वह करियर चुन सकते हैं जिसमें आप फलते-फूलते हैं।

10 वीं के बाद मेडिकल कोर्स

मुझे 10वीं बायोलॉजी के बाद क्या करना चाहिए?
10वीं करियर विकल्प के बाद बायो स्टूडेंट्स के लिए इमेज रिजल्ट
चिकित्सा के अलावा, आप जैव प्रौद्योगिकी, दंत चिकित्सा, पशु चिकित्सा विज्ञान, फार्मास्यूटिकल्स, वनस्पति विज्ञान, प्राणी विज्ञान, समुद्री जीव विज्ञान, आनुवंशिकी, जैव सूचना विज्ञान, सूक्ष्म जीव विज्ञान, और बहुत कुछ जैसे विभिन्न कैरियर पथों का अनुसरण कर सकते हैं।

10 वीं के बाद गणित के छात्रों के लिए करियर विकल्प

आपको आईआईएससी, आईआईटी और आईआईएसटी में गणित का प्रयास करना चाहिए। IIT और संभवत: IISc में आप 5 साल के इंटीग्रेटेड कोर्स के लिए जा सकते हैं। आईआईएसटी में गणित, भौतिकी और अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी होगी.

तो, अपने दिल की सामग्री के अनुसार चुनें और सफल हों।

गुड लक और चीयर्स!

क्या मुझे 10वीं के बाद मैथ्स+बायो करना चाहिए? क्या लाभ हैं?

हाई स्कूल सीबीएसई में गणित और जीव विज्ञान दोनों लेने का लाभ यह है कि जब आप अपने बोर्ड के साथ समाप्त कर लेते हैं और कॉलेजों में आवेदन कर रहे होते हैं तो आप आसानी से क्षेत्रों के बीच स्विच कर सकते हैं।

इन दो बातों का ध्यान रखें:

  1. अगर आप कॉलेज में इंजीनियरिंग स्ट्रीम में जाना चाहते हैं, तो आपके पास मैथ्स बैकग्राउंड होना चाहिए।
  2. चिकित्सा/जीवन विज्ञान में प्रवेश के लिए, जीव विज्ञान हर जगह एक पूर्व-आवश्यकता है, लेकिन कुछ जगहों पर गणित भी मांगा जाता है।

मुझे आपको चेतावनी देनी चाहिए, BOTH लेना दोनों के लिए कर लग सकता है:

  1. जीव विज्ञान के छात्र – अनकहे कारण पर विचार करते हुए बहुत से लोग जीव विज्ञान को चुनते हैं – उन्हें भारतीय स्कूलों में पढ़ाए जाने वाले उच्च-स्तरीय गणित की आवश्यकता नहीं होती है।
  2. इंजीनियरिंग उम्मीदवार – जीव विज्ञान, उनके लिए, एक व्यक्तिपरक पाठ्यक्रम के रूप में एक और बोझ है (100 स्कोर नहीं कर सकता) और उनके लिए जटिल वैदिक गणित तकनीकों का उपयोग करने के लिए गणना के बजाय ‘रटना-लर्निंग’ की आवश्यकता है।

11वीं और 12वीं में वोकेशनल स्ट्रीम क्या है, कैसे करे?

10 वीं के बाद, कई बोर्ड कक्षा 11 वीं और 12 वीं में व्यावसायिक धाराएँ प्रदान करते हैं ताकि आपको 12 वीं कक्षा के पूरा होने के तुरंत बाद नौकरी की तैयारी में मदद मिल सके। आप अनिवार्य भाषाओं के साथ दो या दो से अधिक व्यावसायिक विषय चुन सकते हैं। आप किस बोर्ड में दाखिला ले रहे हैं, इसके आधार पर आपके व्यावसायिक विषय के विकल्प हो सकते हैं:

हिन्दीइंग्लिश
लेखा और कराधान
एयर कंडीशनिंग और प्रशीतन
ऑटो शॉप मरम्मत और अभ्यास
ऑटोमोटिव बैंकिंग
बैंकिंग और बीमा
सौंदर्य और कल्याण
बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन
व्यवसाय संचालन और प्रशासन
पूंजी बाजार संचालन
सिविल इंजीनियरिंग तकनीशियन
नैदानिक ​​जैव रसायन और सूक्ष्म जीव विज्ञान
कंप्यूटर सिद्धांत और प्रणाली विश्लेषक
विनिर्माण तकनीक
कॉस्ट अकाउंटिंग क्रेच और प्री-स्कूल मैनेजमेंट
डेटाबेस प्रबंधन अनुप्रयोग
डिजाइन और नवाचार
बिजली के उपकरण
विद्युत मशीनें
विद्युत प्रौद्योगिकी
इलेक्ट्रॉनिक्स प्रौद्योगिकी
पर्यावरण शिक्षा
बाहरी और आंतरिक डिजाइन
फैशन डिजाइन और परिधान प्रौद्योगिकी
वित्तीय लेखांकन
वित्तीय बाजार प्रबंधन
खाद्य और पेय सेवाएं
खाद्य पोषण और आहार विज्ञान
खाद्य उत्पाद
फ्रंट ऑफिस ऑपरेशंस
परिधान निर्माण
भू-स्थानिक प्रौद्योगिकी
ग्राफिक डिजाइन तकनीशियन
स्वास्थ्य और सौंदर्य अध्ययन
हेल्थकेयर साइंस
बागवानी
आतिथ्य प्रबंधन
सूचना प्रौद्योगिकी बीमा
आईटी आवेदन
पुस्तकालय और सूचना विज्ञान
रसद संचालन और आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन
मार्केटिंग मार्केटिंग और सेल्समैनशिप
मास मीडिया स्टडीज एंड प्रोडक्शन
मैकेनिकल इंजीनियरिंग तकनीशियन
चिकित्सा निदान
संगीत उत्पादन
कार्यालय प्रक्रियाएं और अभ्यास
कार्यालय सचिव पद
ऑफसेट प्रिंटिंग तकनीशियन
संचार उपकरणों का संचालन और रखरखाव
खुदरा व्यापार संचालन
बेचने का कार्य
सुरक्षा
आशुलिपि और कंप्यूटर अनुप्रयोग
कर लगाना
दूरसंचार और इलेक्ट्रॉनिक तकनीशियन
वस्त्र डिजाइन
परिवहन प्रणाली और रसद प्रबंधन
यात्रा और पर्यटन
इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का समस्या निवारण और रखरखाव
टाइपोग्राफी और कंप्यूटर एप्लीकेशन
वेब अनुप्रयोग
एक्स – रे तकनीशियन
Accountancy and Taxation
Air-conditioning and Refrigeration
Auto Shop Repair and Practice
AutomotiveBanking
Banking and Insurance
Beauty and Wellness
Business Administration
Business Operations and Administration
Capital Market Operations
Civil Engineering Technician
Clinical Biochemistry and Microbiology
Computer Theory & System Analyst
Construction Technology
Cost Accounting Creche and Pre-school Management
Database Management Applications
Design and Innovation
Electrical Appliances
Electrical Machines
Electrical Technology
Electronics Technology
Environment Education
Exterior & Interior Design
Fashion Design and Garment Technology
Financial Accounting
Financial Market Management
Food and Beverage Services
Food Nutrition and Dietetics
Food Production
Front Office Operations
Garment Construction
Geospatial Technology
Graphic Design Technician
Health and Beauty Studies
Healthcare Science
Horticulture
Hospitality Management
Information Technology Insurance
IT Application
Library and Information Science
Logistics Operations and Supply Chain Management
MarketingMarketing and Salesmanship
Mass Media Studies and Production
Mechanical Engineering Technician
Medical Diagnostics
Music Production
Office Procedures and Practice
Office Secretaryship
Offset Printing Technician
Operations and Maintenance of Communication Devices
Retail Operations
Salesmanship
Security
Stenography and Computer Application
Taxation
Telecommunication & Electronic Technician
Textile Design
Transport Systems and Logistics Management
Travel and Tourism
Troubleshooting and Maintenance of Electronic Equipment
Typography and Computer Application
Web Applications
X-Ray Technician

10 वीं कक्षा के बाद सेशन कोर्स: व्यावसायिक शिक्षा विकल्प

क्या आप स्कूल छोड़ना चाहते हैं और इसके बजाय व्यावसायिक प्रशिक्षण का विकल्प चुनना चाहते हैं? क्या आप 10वीं के बाद करियर विकल्प तलाश रहे हैं? 10वीं के बाद के पाठ्यक्रमों की सूची के बारे में नीचे पढ़ें और समझें कि आपके लिए कौन सा पाठ्यक्रम सही हो सकता है:

इंजीनियरिंग और तकनीकी क्षेत्रों में शीर्ष 20 पॉलिटेक्निक डिप्लोमा पाठ्यक्रम
यदि आपने कक्षा 9 और 10 में विज्ञान और गणित का अध्ययन किया है, तो आप अपने राज्य में पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा में बैठ सकते हैं और एक पॉलिटेक्निक में सीट सुरक्षित कर सकते हैं। पॉलिटेक्निक डिप्लोमा (3-वर्ष की अवधि) के बाद, आप नौकरी प्राप्त कर सकते हैं या आप 4-वर्षीय B.E./B.Tech में पार्श्व प्रवेश का विकल्प चुन सकते हैं। इंजीनियरिंग में पाठ्यक्रम (आप द्वितीय वर्ष में प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं)। इनमें डिप्लोमा 10वीं के बाद सबसे अच्छा कोर्स माना जाता है।

* शीर्ष 20 पॉलिटेक्निक डिप्लोमा पाठ्यक्रम हैं:

हिन्दीइंग्लिश
कंप्यूटर इंजीनियरिंग
साइबर फोरेंसिक और सूचना सुरक्षा
डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स
एप्लाइड इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रुमेंटेशन
इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स
इलेक्ट्रानिक्स
बायोमेडिकल इलेक्ट्रॉनिक्स
सूचान प्रौद्योगिकी
मैकेनिकल इंजीनियरिंग
मेडिकल इलेक्ट्रॉनिक्स
मेकाट्रोनिक्स
बिजली के इलेक्ट्रॉनिक्स
कैड कैम
3-डी एनिमेशन और ग्राफिक्स
परिधान डिजाइन और फैशन प्रौद्योगिकी
रासायनिक प्रौद्योगिकी
असैनिक अभियंत्रण
सिविल इंजीनियरिंग (पर्यावरण)
खाद्य प्रसंस्करण
जल प्रौद्योगिकी
Computer Engineering
Cyber Forensics & Information Security
Digital Electronics
Applied Electronics & Instrumentation
Electrical & Electronics
Electronics
Biomedical Electronics
Information Technology
Mechanical Engineering
Medical Electronics
Mechatronics
Power Electronics
CAD-CAM
3-D Animation & Graphics
Apparel Design & Fashion Technology
Chemical Technology
Civil Engineering
Civil Engineering (Environmental)
Food Processing
Water Technology

* टॉप 10 आईटीआई सर्टिफिकेट कोर्स (तकनीकी):

यदि आपने कक्षा 9 और 10 में विज्ञान और गणित का अध्ययन किया है, तो आप निम्नलिखित में से किसी भी तकनीकी ट्रेड में आईटीआई ट्रेड कोर्स के लिए नामांकन कर सकते हैं और एक प्रमाण पत्र (2 साल की अवधि) प्राप्त कर सकते हैं। आईटीआई सर्टिफिकेट कोर्स 10वीं के बाद सबसे अच्छा कोर्स माना जाता है।

इनमें से शीर्ष 10 इस प्रकार हैं:

हिन्दीइंग्लिश
कंप्यूटर हार्डवेयर और नेटवर्क रखरखाव
ड्राफ्ट्समैन (सिविल)
बिजली मिस्त्री
इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक
मैकेनिक (रेफ्रिजरेशन और एयर कंडीशनर)
मैकेनिक (ऑटो इलेक्ट्रिकल्स और इलेक्ट्रॉनिक्स)
मैकेनिक (मेक्ट्रोनिक्स)
मैकेनिक (मेडिकल इलेक्ट्रॉनिक्स)
सर्वेक्षक
रेडियोलॉजी तकनीशियन
Computer Hardware & Network Maintenance
Draughtsman (Civil)
Electrician
Electronic Mechanic
Mechanic (Refrigeration and Air-Conditioner)
Mechanic (Auto Electricals & Electronics)
Mechanic (Mechatronics)
Mechanic (Medical Electronics)
Surveyor
Radiology Technician

* शीर्ष 12 आईटीआई प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम (गैर-तकनीकी)

यदि आपने कक्षा 9 और 10 में विज्ञान और गणित का अध्ययन नहीं किया है या किसी भी विषय का अध्ययन नहीं किया है, तो आप निम्नलिखित में से किसी भी गैर-तकनीकी ट्रेड में आईटीआई ट्रेड पाठ्यक्रम के लिए नामांकन कर सकते हैं और एक प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकते हैं (1-2 वर्ष की अवधि):

हिन्दीइंग्लिश
बेकर और हलवाई
कंप्यूटर ऑपरेटर और प्रोग्रामिंग सहायक
खाद्य और पेय सेवाएं
खाद्य उत्पाद
बालों और त्वचा की देखभाल
हाउसकीपर
मल्टीमीडिया, एनिमेशन, विशेष प्रभाव
यात्रा यात्रा सहायक
नलसाज
वेल्डर
वृद्धावस्था देखभाल
स्पा थेरेपी
Baker & Confectioner
Computer Operator & Programming Assistant
Food & Beverage Services
Food Production
Hair & Skin Care
Housekeeper
Multimedia, Animation, Special Effects
Travel Tour Assistant
Plumber
Welder
Old Age Care
Spa Therapy

* व्यावसायिक प्रशिक्षण में शीर्ष 6 डिप्लोमा पाठ्यक्रम

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा या आईटीआई सर्टिफिकेट कोर्स चुनने के बजाय, आप 3 साल का डी.वोक भी चुन सकते हैं। (व्यवसाय में डिप्लोमा) पाठ्यक्रम एनएसक्यूएफ (राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क) प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत। वोकेशनल ट्रेनिंग में डिग्री 10वीं के बाद सबसे अच्छा कोर्स माना जाता है। इनमें से शीर्ष 6 हैं:

  • सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट
  • ग्राफिक्स और मल्टीमीडिया
  • यात्रा पर्यटन
  • प्रशीतन और एयर कंडीशनिंग
  • बीएफएसआई
  • मेडिकल इमेजिंग

* 10वीं के बाद शीर्ष 10 कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम और पाठ्यक्रम

10वीं के बाद आप किसी कम्युनिटी कॉलेज में स्किल ट्रेनिंग प्रोग्राम और 10वीं के बाद करियर ऑप्शन के लिए एनएसडीसी से अप्रूव्ड ट्रेनिंग सेंटर का विकल्प भी चुन सकते हैं। विकल्पों में से कुछ हैं:

  • एनिमेटर
  • सौंदर्य चिकित्सक
  • खाद्य प्रसंस्करण
  • रत्न और आभूषण
  • स्वास्थ्य देखभाल
  • मोबाइल फोन तकनीशियन
  • जैविक उत्पादक
  • बिक्री कार्यकारी
  • सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट
  • सोलर फोटोवोल्टिक सिस्टम इंस्टालर

सरकारी नौकरियां 2021: 10वीं के बाद सरकारी नौकरियां कौन सी है?दसवीं के बाद जॉब

  • 10वीं कक्षा के बाद सरकारी अवसर

रेलवे देश का एक सुस्थापित संगठन है जो हर साल बड़ी संख्या में रिक्तियों की घोषणा करता है। यह प्रतिष्ठित संगठनों में से एक है जो नौकरी की सुरक्षा प्रदान करता है और समाज में भी प्रतिष्ठा बढ़ाता है। रेलवे में 10वीं के बाद ये कुछ नौकरियां नीचे बताई गई हैं,

Exam NamePostAge
RRB Group DHelper, Fitter, Cabin Man, Keyman, Leverman, Porter, Shunter, Welder, Trackman, Switchman 18-33 years
RRB ALPITI18-30 years
Railway ApprenticeITI Posts15-24 years
RPF ConstableConstable18-25 years
DLW Apprentice RecruitmentNon-ITI Apprentice15-22 years
  • कर्मचारी चयन आयोग में 10वीं कक्षा के बाद

कर्मचारी चयन आयोग सीएचएसएल, सीजीएल आदि परीक्षाओं में उम्मीदवारों की भर्ती के लिए हर साल बड़ी संख्या में रिक्तियों को जारी करता है। एसएससी केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों और विभागों में भर्ती करता है। ये हैं SSC द्वारा आयोजित मैट्रिक परीक्षा:

xam NamePostAge
SSC MTSGardner, Peon, Daftary, Watchman, Cleaning Staff, Junior Gestetner Operator18-25 years
SSC Selection PostOffice Attendant, Field Attendant, Canteen Attendant, Binder18-30 years
  • डिफेंस में 10वीं के बाद सरकारी मौका

यह प्रतिष्ठित क्षेत्रों में से एक है। विभिन्न रक्षा परीक्षाओं के लिए बड़ी संख्या में उम्मीदवार शानदार सेना और सेना रखने और राष्ट्र की सेवा करने के लिए उपस्थित होते हैं। सेना में काम करने का सपना देखने वाले उम्मीदवारों के लिए इस क्षेत्र में कई अवसर हैं। ये उन उम्मीदवारों के लिए कुछ अवसर हैं जो 10 वीं पास हैं और रक्षा के साथ काम करने के इच्छुक हैं।

Exam NamePostAge
Multi-Tasking Staff -Director General Armed Forces Medical ServicesGardner, Peon, Watchman, Messenger, Sweeper, Daftary18-25 years
BSF ConstableConstable General Duty18-23 years
CRPF ConstablesConstable18-23 years
BRO Multi Skill WorkerITI Worker18-25 years
ITBP ConstableConstable General Duty18-23 years
Assam Riffles ConstableConstable General Duty, Mechanic18-28 years
  • राज्यों में 10वीं के बाद सरकारी मौका

राज्य सरकार में उम्मीदवारों की भर्ती के लिए राज्य विभिन्न परीक्षाएं भी आयोजित करते हैं। राज्य सरकार 10 वीं कक्षा के उम्मीदवारों के लिए अवसर भी लाती है। ये नौकरियां ज्यादातर पुलिस बल में उपलब्ध हैं। 10वीं पास उम्मीदवारों के लिए ये हैं राज्यों में सरकारी नौकरियां।

Exam NamePostAge
Bihar Police ConstableConstable18-25 years
Himachal Pradesh ConstableConstable20-25 years
Jharkhand Constable RecruitmentConstables, Urban Home Guards18-30 years,19-40 years
West Bengal Excise Constable RecruitmentExcise Constables18-27 years
Odisha 9th Battalion Constable RecruitmentBattalion Constable18-23 years
Tripura Police Rifleman RecruitmentPolice Rifleman18-23 years
AP Police Driver RecruitmentPolice Driver18-30 years
Maharashtra Police Constable Driver RecruitmentPolice Constable Driver18-30 years
HSSC RecruitmentWork Supervisor, Auto Diesel Mechanic, Carpenter Plumber, Painter, Maison, Lift Operator, Electrician, Blacksmith17-42 years
Delhi Transport CorporationBus Driver19-50 years
Karnataka Forest Recruitment Forest Guard18-35 years
Anganwadi RecruitmentWorker, Helper18 years minimum
NCRB RecruitmentHead ConstableMaximum Age 56 years
DDA Recruitment for various postMali18-25 years
  • पीएसयू में 10वीं के बाद सरकारी मौका

मैट्रिक पूरा करने वाले उम्मीदवारों के लिए बहुत सारे सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम हैं। भर्ती परीक्षाओं की संख्या नीचे उपलब्ध है। जो उम्मीदवार सिर्फ 10 वीं पास हैं, उन्हें नीचे दी गई तालिका को पढ़ना चाहिए।

Exam NamePostAge
ESIC UDCUDC, Stenographer18-27 years
GAIL PatwariPatwari, Lekhpal
Hindustan Shipyard LimitedDriver28 Years
UPRVUNLTechnician Grade II18-40 years
  • ग्राम डाक सेवक में 10वीं के बाद सरकारी मौका

ग्राम डाक सेवक मैट्रिक पूरा करने वाले उम्मीदवारों के लिए बहुत सारी रिक्तियों और विभिन्न पदों की पेशकश करता है। भारतीय डाक विभाग से जुड़े होने से बेहतर कुछ नहीं है। ये ग्राम डाक सेवक के लिए पूरे देश में आयोजित परीक्षाएं हैं।

Exam NamePostAge
AP Postal Circle GDSGDS, Multitasking Staff (MTS), Postman/Mailguard18-40 years
Maharashtra Postal Circle GDSDak Sevak, Branch postmaster, Assistant Branch Postmaster18-40 years
Chattisgarh Postal Circle GDSGDS, Multitasking Staff (MTS), Postman/Mailguard, Branch postmaster, Assistant Branch Postmaster18-40 years
Telangana Postal Circle GDSGDS, Multitasking Staff (MTS), Postman/Mailguard, Branch postmaster, Assistant Branch Postmaster, Driver Post18-40 years

ये भी देखें

यूट्यूब शॉर्ट्स कैसे viral करे?

महिलाए घर बैठे पैसे कैसे कमाए?

Leave a Reply

error: Content is protected !!